Call us now: (+91) 94135 68044

 Bank PO & Clerk New Batch Started.............................................................. Delhi / Rajasthan Police New Batch Started............................................................ BANK CLERK (9 : 00 AM to 01 : 00 PM) ..............................................................REET I & II LEVEL (12 : 30 PM to 05 : 30 PM).............................................................. Our site is currently under processing and updating . We will update all notes soon . Thank you

 

Current Affairs 03 - 04 August 2016

IFS-2016

1) भारत की विदेश सेवा की स्थितियों का आकलन करने के लिए गठित विदेशी मामलों की एक संसदीय समिति ने अगस्त 2016 के दौरान लोकसभा में रखी अपनी रिपोर्ट में भारतीय विदेश सेवा (IFS) परीक्षा के बारे में क्या महत्वपूर्ण सिफारिश की है? – भारतीय विदेश सेवा में जाने के इच्छुक अभ्यर्थियों के लिए सिविल सेवा परीक्षा में अलग पर्चा होना चाहिए

विस्तार: विदेशी मामलों पर गठित इस संसदीय समिति (Parliamentary Committee on External Affairs) की अध्यक्षता पूर्व विदेश राज्य मंत्री व कांग्रेस सांसद शशि थरूर (Shashi Tharoor) कर रहे हैं। इस समिति ने अगस्त 2016 के दौरान अपनी रिपोर्ट लोकसभा के पटल पर रखी।

 इस समिति ने यह सिफारिश की है कि भारतीय विदेश सेवा (Indian Foreign Service – IFS) में जाने के इच्छुक अभ्यर्थियों के लिए संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) द्वारा आयोजित सिविल सेवा परीक्षा में एक अलग (अतिरिक्त) पर्चा होना चाहिए जो ऐसे अभ्यर्थियों की विदेशी मामलों पर पकड़ तथा अपेक्षित अभिरुचि (aptitude) का परीक्षण कर सके।

 इसका अर्थ हुआ कि कोई अभ्यर्थी तब ही भारतीय विदेश सेवा (IFS) में अपना स्थान बना पायेगा जब उसने सिविल सेवा की मेरिट में आने के अलावा इस प्रस्तावित अतिरिक्त पर्चे को उत्तीर्ण किया हो तथा इस सम्बन्ध में चयन बोर्ड की स्वीकृति हासिल की हो।

 उक्त समिति ने अपनी रिपोर्ट में इस बात पर भी चिंता व्यक्त की कि भारत जैसे विशाल देश की कूटनीतिक आवश्यकताओं को देखते हुए देश को अपेक्षित मात्रा में विशेषज्ञ अधिकारी नहीं मिल पा रहे हैं। विदेश सेवा में कुल स्वीकृत पदों 912 के परिप्रेक्ष्य में इस सेवा में उपलब्ध कुल अधिकारियों की संख्या मात्र 770 है।

……………………………………………………..

2) भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने 2 अगस्त 2016 को गृह-ऋण के क्षेत्र में अपने दो नई योजनाएं- “एसबीआई प्रिविलेज होम लोन” और “एसबीआई शौर्य होम लोन” बाजार में पेश कीं। इन दो नई योजनाओं को किन दो वर्गों के लिए प्रस्तुत किया गया है? – सरकारी कर्मचारी (Govt. employees) तथा प्रतिरक्षा कर्मचारी (Defence personnel)

विस्तार: “एसबीआई प्रिविलेज होम लोन” (‘SBI Privilege Home Loan’) योजना को जहाँ सरकारी कर्मचारियों को ध्यान में रख कर तैयार किया गया है वहीं “एसबीआई शौर्य होम लोन” (‘SBI Shaurya Home Loan’) योजना के द्वारा देश के प्रतिरक्षा क्षेत्र के कर्मचारियों की गृह-ऋण सम्बन्धी आवश्यकताओं को पूरा किया जायेगा।

 इन दो गृह-ऋण उत्पादों के द्वारा केन्द्र/राज्य के सरकारी कर्मचारियों, सशस्त्र सेना के कर्मियों समेत प्रतिरक्षा क्षेत्र के कर्मियों, सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक कर्मियों, सार्वजनिक उपक्रमों में कार्यरत कर्मियों तथा ऐसे अन्य सम्बन्धित कर्मियों को गृह-ऋण प्रदान किया जायेगा। एक और जहाँ इनके द्वारा ब्याज में 0.05% की छूट प्रदान की जायेगी वहीं इन दोनों ऋणों के लिए कोई प्रोसेसिंग शुल्क (processing fee) नहीं वसूला जायेगा।

 भारतीय स्टेट बैंक ने “एसबीआई प्रिविलेज होम लोन” और “एसबीआई शौर्य होम लोन” योजनाओं को ऐसे समय में पेश किया है जब सरकार सरकारी कर्मियों को सातवें वेतन आयोग (7th Pay Commission) की सिफारिशों का लाभ प्रदान करने जा रही है। SBI का मानना है कि नए ऋण उत्पादों के द्वारा सरकारी कर्मचारी तथा प्रतिरक्षा कर्मी अपने लिए नए अथवा बेहतर आवास को हासिल करने में सक्षम होंगे।

……………………………………………………..

Virgin-Galactic-2016

3) दिग्गज अरबपति उद्योगपति रिचर्ड ब्रेन्सन (Richard Branson) की उस अंतरिक्ष कम्पनी (space company) का क्या नाम है जिसकी प्रस्तावित अंतरिक्ष पर्यटन रॉकेट उड़ानों (space tourism rocket flights) को अमेरिका की उड्डयन क्षेत्र की नियामक संस्था USFAA ने 1 अगस्त 2016 को संचालन लाइसेंस (operating licence) प्रदान कर दिया? – वर्जिन गेलक्टिक (Virgin Galactic)

विस्तार: उल्लेखनीय है कि रिचर्ड ब्रेन्सन अपनी अंतरिक्ष कम्पनी वर्जिन गेलक्टिक (Virgin Galactic) की रॉकेट उड़ानों के साथ दुनिया में पहली बार नियमित अंतरिक्ष पर्यटन का मौका पृथ्वीवासियों को उपलब्ध कराने जा रही है।

 वर्जिन गेलक्टिक अमेरिका को नियामक संस्था यूएस फेडरल एविएशन एडमिनिस्ट्रेशन (US Federal Aviation Administration – USFAA) का संचालन लाइसेंस मिलना काफी अभूतपूर्व माना जा रहा है क्योंकि यह कम्पनी की प्रस्तावित वाणिज्यिक अंतरिक्ष सेवा में संलग्न किए जाने वाले अंतरिक्ष-यान (स्पेसशिप टू – SpaceShipTwo) के लगभग सभी महत्वपूर्ण पहलुओं को समाहित किए हुए है।

 वर्जिन गेलक्टिक ने अभी तक अपनी अंतरिक्ष पर्यटन उड़ानों की तिथि घोषित नहीं की है लेकिन दो पायलटों द्वारा एक बार में छह यात्रियों को ले जाने वाली इन प्रस्तावित उड़ानों के लिए ढाई लाख डॉलर प्रति यात्री ($250,000 per passenger) की दर से उसने सीटें बुक करना शुरू कर दिया है। अभी तक लगभग 700 यात्री ये महंगे टिकट खरीद भी चुके हैं।

……………………………………………………..

4) भारतीय राजस्व सेवा (IRS) की कौन महिला अधिकारी केन्द्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (Central Board of Direct Taxes – CBDT) की नई अध्यक्षा (Chairperson) होंगी? – रानी सिंह नायर

विस्तार: 1979 की आयकर काडर की भारतीय राजस्व सेवा (IRS) अधिकारी रानी सिंह नायर (Rani Singh Nair) केन्द्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) की नई अध्यक्षा होंगी। उन्होंने आयकर घोषणा (income declaration) से सम्बन्धित क्रांतिकारी योजना की तमाम प्रक्रियाओं तथा प्रोटोकॉल को तैयार करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

 वे वर्तमान में CBDT में सदस्य (कानून एवं कम्प्यूटरीकरण) के रूप में कार्यरत हैं। CBDT की अध्यक्षा के रूप में उनका कार्यकाल 31 अक्टूबर 2016 तक रहेगा तथा वे 31 जुलाई 2016 को इस पद से सेवानिवृत्त हुए अतुलेश जिंदल (Atulesh Jindal) का स्थान ले रही हैं।

……………………………………………………..

5) उस चक्रवाती तूफान (cyclonic storm) को क्या नाम दिया गया था जिसने 2 अगस्त 2016 को हांग कांग (Hong Kong) को अपनी तीव्रता से हिलाने के बाद चीन (China) में प्रवेश कर लिया? – निडा (Nida)

विस्तार: चक्रवाती तूफान निडा (Nida) वर्ष 2016 का पहला तूफान बना जिसे हांग कांग की मौसम वेधशाला (Hong Kong Observatory) ने न. 8 स्तर की चेतावनी की श्रेणी में रखा जोकि तूफानी चेतावनी की तीसरी सबसे बड़ी श्रेणी होती है।

 निडा तूफान ने 2 अगस्त 2016 को तड़के हांग कांग में प्रवेश किया जिसके चलते इस द्वीप-देश में लगभग 145 किमी. प्रति घण्टा की रफ्तार से हवाएं चलने लगीं। यह तूफान फिलीपीन्स (Philippines) के पास उत्पन्न हुआ था तथा आगे बढ़ने के साथ ही इसकी गति भी बढ़ गई।

 इसके चलते हांग कांग हवाईअड्डे की लगभग 180 उड़ाने रद्द कर दी गईं। साथ ही बस, ट्रेन, ट्राम व फेरी (नौका) सेवा भी कुछ समय के लिए स्थगित कर दी गईं। यह तूफान इसके बाद मुख्य चीन में प्रविष्ट हो गया लेकिन तब तक इसकी रफ्तार काफी कम हो गई थी। हालांकि तूफान के कारण हांग कांग में किसी की मौत नहीं हुई।

……………………………………………………..

GST-Infosys-2015

6) भारत के इतिहास का सबसे बड़ा कर सुधार बताये जा रहे गुड्स एण्ड सर्विस टैक्स (GST) के पदार्पण की ओर कदम बढ़ाते हुए राज्य सभा ने 3 अगस्त 2016 को इससे सम्बन्धित ऐतिहासिक विधेयक को पारित कर दिया। इस विधेयक को जहाँ अन्य सभी दलों ने समर्थन देते हुए विधेयक को 203 मतों से पारित किया वहीं वह एकमात्र दल कौन सा था जिसने इसका विरोध करते हुए मतदान के समय सदन से वॉक-आउट किया? – अन्नाद्रमुक (AIADMK)

विस्तार: अन्नाद्रमुक (AIADMK) ने संघवाद के सिद्धांत का हवाला देते हुए GST विधेयक का विरोध किया। लेकिन इसके खिलाफ वोट देने के बजाय उसने सदन से वॉक-आउट कर अपना विरोध जताया। वहीं कांग्रेस समेत अन्य सभी दलों ने विधेयक का समर्थन किया। अब इस विधेयक को स्वीकृति के लिए एक बार फिर लोकसभा में भेजा जायेगा।

 GST के लागू होने से पूरे देश में एक-समान कर दर (uniform tax rate) तथा बाजार प्रणाली में समरूपता आयेगी। इसके चलते देश में “एक देश – एक कर” (‘One Country, One Tax’) के नाम से बहुधा पुकारी जाने वाली व्यवस्था लागू हो जायेगी। माना जा रहा है करों में देश भर में समरूपता आने के कारण कर चोरी (tax evasion) पकड़ना आसान हो जायेगा जबकि अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर तेज होगी।

 हालांकि अर्थव्यवस्था के विभिन्न क्षेत्रों पर GST के प्रभाव का मूल्यांकन करना अभी मुश्किल है क्योंकि सरकार ने GST की अंतिम दर (final GST rate) नहीं घोषित की है लेकिन विशेषज्ञों के अनुसार यह 17% से 18% के बीच होनी चाहिए। यदि ऐसा होता है तो मैन्यूफैक्चरिंग क्षेत्र को लाभ होगा जबकि सेवा क्षेत्र घाटे में रहेगा।

 वहीं भारत के संघीय ढांचे को ध्यान में रखते हुए GST के दो भाग होंगे – केन्द्रीय जीएसटी (CGST) तथा राज्य जीएसटी (SGST)।

…………………………………………………………

7) केरल की राजधानी तिरुवनंतपुरम (Thiruvananthapuram) से दुबई (Dubai) की एक नियमित उड़ान 3 अगस्त 2016 को उस समय एक हादसे का शिकार हो गई जब दुबई अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे (Dubai International Airport) पर आपातकालीन लैण्डिंग करते हुए इस विमान में आग लग गई। हालांकि हादसे से विमान में बैठे 282 यात्रियों तथा 18 क्रू सदस्यों को न तो कोई चोट लगी न ही किसी की मृत्यु हुई। इस हादसे में खाड़ी देश से सम्बन्धित किस एयरलाइन कम्पनी का विमान शामिल था? – एमिरेट्स (Emirates)

विस्तार: संयुक्त अरब अमीरात (UAE) की एयरलाइन कम्पनी एमिरेट्स (Emirates) की उड़ान संख्या EK521 इस हादसे में शामिल थी तथा यह विमान तिरुवनंतपुरम से दुबई की उड़ान पर था। इस उड़ान में शामिल बोइंग 777 (Boeing 777) विमान तिरुवनंतपुरम से प्रात: 10:19 पर उड़ा था तथा इसे दुबई अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर दोपहर 12:50 पर उतरना था।

 लेकिन संभवत: विमान के लैण्डिंग गियर में समस्या आने के कारण विमान को आपातकालीन लैण्डिंग करनी पड़ी जिससे इसमें आग लग गई। पायलट सूझ-बूझ दिखाते हुए विमान को टर्मिनल से दूर ले गया जबकि एयरपोर्ट के कर्मियों ने तुरंत कदम उठाते हुए एक बड़ा हादसा टाल दिया। सभी यात्री व क्रू सदस्य सुरक्षित हैं। विमान में अधिकांश यात्री भारतीय थे तथा केरल से सम्बन्धित थे।

…………………………………………………………

8) नेपाल (Nepal) की संसद ने 3 अगस्त 2016 को किसे देश के नए प्रधानमंत्री (new Prime Minister) के रूप में चुन लिया जिसके चलते वे पिछले 26 वर्षों में 24वें प्रधानमंत्री बन गए? – प्रचण्ड (Prachanda)

विस्तार: प्रचण्ड (Prachanda), जिनका वास्तविक नाम पुष्प कमल दहल (Pushpa Kamal Dahal) है, नेपाल के पूर्व माओवादी नेता हैं। नेपाली संसद द्वारा उनका चुनाव हालांकि एक औपचारिकता मात्र थी क्योंकि उनके खिलाफ कोई उम्मीदवार नामांकन की अंतिम तिथि 2 अगस्त 2016 तक सामने नहीं आया था। इसके चलते माना जा रहा है कि उनकी सरकार पिछली सरकारों के मुकाबले कुछ अधिक स्थायित्व से चल सकती है।

 देश में नए प्रधानमंत्री का चुनाव किया जाना इसलिए जरूरी हो गया था क्योंकि पिछले माह (जुलाई 2016) के दौरान के.पी. ओली (K.P. Oli) को अपना प्रधानमंत्री का पद उनके खिलाफ लाए जा रहे अविश्वास प्रस्ताव के ठीक पहले छोड़ना पड़ा था क्योंकि गठबन्धन सरकार में माओवादी साथी उनका विरोध कर रहे थे। माओवादियों ने उन पर सत्ता का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया था।

 उल्लेखनीय है कि नेपाल में पिछले काफी समय से राजनीतिक अस्थिरता कायम है। पिछले साल (सितम्बर 2015) के दौरान जब देश के इतिहास का पहला गणतंत्रात्मक संविधान अपनाया गया था तब यह उम्मीद लगायी गई थी कि देश में स्थिरता कायम होगी। लेकिन देश के मधेशी वर्ग ने उक्त संविधान में उनके लिए सही प्रतिनिधित्व न मिल पाने की बात कहकर उसका तीव्र विरोध शुरू कर दिया था।

 वैसे कूटनीतिक विशेषज्ञों के अनुसार प्रचण्ड का प्रधानमंत्री बनना भारत के लिए सकारात्मक हो सकता है।

…………………………………………………………

Bridge-Collapse-2016

9) एक भीषण हादसे में 22 लोगों को उस समय मृत्यु हो गई जब महाराष्ट्र (Maharashtra) के रायगढ़ (Raigad) जिले में गुजर रही मुम्बई-गोवा हाइवे पर स्थित एक पुल 3 अगस्त 2016 को तड़के अचानक ढह गया तथा इस पर जा रही महाराष्ट्र राज्य सरकार परिवहन निगम (MSRTC) की दो बसें बह गईं। यह हादसा जिस पुल पर हुआ वह किस नदी पर बना हुआ था? – सावित्री नदी

विस्तार: महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले में सावित्री नदी (Savitri River) के ऊपर बना यह पुल मुम्बई-गोवा हाइवे (Mumbai-Goa highway) पर बना हुआ है तथा महाद (Mahad) को पोलडपुर (Poladpur) से जोड़ता है। इस पुल में दो पुल है – एक ब्रिटिशकालीन पुराना पुल है जबकि एक नया पुल है। यह पुराना पुल 3 अगस्त 2016 को तड़के नदी के तेज बहाव में ढह गया। इसके बाद इसपर से गुजर रहीं महाराष्ट्र राज्य परिवहन निगम (MSRTC) की दो बसें तेज बहाव में बह गईं। वहीं नया पुल सही सलामत है

 इस हादसे में दोनों बसों में बैठे 18 यात्री, दो ड्राइवर तथा दो कण्डेक्टरों को मिलाकर कुल 22 लोग मारे गए।

 माना जा रहा है कि यह पुराना पुल तब बह गया जब सावित्री नदी में महाबलेश्वर क्षेत्र में हुई भारी बरसात के कारण यकायक बाढ़ आ गई तथा इस भारी दबाव को यह पुल संभाल नहीं पाया।

…………………………………………………………

Nimesh-Kampani-JM-2016

10) भारत के चुनिंदा निवेश बैंकर्स में से एक निमेश कम्पानी (Nimesh Kampani) ने 2 अगस्त 2016 को घोषणा की कि वे उस निवेश कम्पनी के प्रबन्ध निदेशक (MD) का पद छोड़ देंगे जिसकी स्थापना उन्होंने की थी तथा जिसे देश के एक सुप्रसिद्ध निवेश बैंक का दर्जा प्रदान कराने में सफलता हासिल की थी। उनके द्वारा स्थापित इस निवेश कम्पनी का क्या नाम है? – जेएम फाइनेंशियल लिमिटेड (JM Financial Ltd)

विस्तार: कम्पानी की गणना “के” अक्षर के नाम वाले उन तीन दिग्गज निवेश बैंकर्स की तिकड़ी में से होती है जिन्होंने 1990 के अंतिम वर्षों तथा 2000 के प्रारंभिक वर्षों में देश में नए श्रेणी के निवेश बैंकों की नींव रखने की सफल कोशिश की थी जब विदेशी निवेश संस्थाओं का भारत में पदार्पण नहीं हुआ था। कम्पानी के अलावा इस मशहूर तिकड़ी में शामिल अन्य दो बैंकर्स थे – कोटक महिन्द्रा (Kotak Mahindra) के उदय कोटक (Uday Kotak) और डीएसपी मेरिल लिंच (DSP Merrill Lynch) के हेमेन्द्र कोठारी (Hemendra Kothari)।

 कम्पानी को देश के तमाम औद्यौगिक घरानों में काफी सम्मान हासिल था क्योंकि वे इन परिवारों की सम्पत्ति के कुशल प्रबन्धक के अलावा उनके वित्तीय विवादों को सुलझाने में महारथ हासिल थी।

 वित्तीय दायरे में उनकी प्रतिष्ठा को देखते हुए दिग्गज अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय फर्म मॉर्गन स्टैनली (Morgan Stanley) ने जे.एम. फाइनेंशियल लिमिटेड के साथ वर्ष 1997 में संयुक्त उपक्रम (JM Morgan Stanley) स्थापित किया था। हालांकि 10 वर्ष बाद यह उपक्रम स्थगित कर दिया गया था।

 कम्पानी 30 सितम्बर 2016 को 70 वर्ष की आयु पूरी करने के बाद अपनी कम्पनी के प्रबन्ध निदेशक (MD) का पद छोड़ देंगे जबकि उनके पुत्र विशाल कम्पानी (Vishal Kampani) इसकी कमान संभालेंगे।

…………………………………………………………

 

http://www.churugurukul.com/current-affairs-01-02-august-2016