Call us now: (+91) 94135 68044

 Bank PO & Clerk New Batch Started.............................................................. Delhi / Rajasthan Police New Batch Started............................................................ BANK CLERK (9 : 00 AM to 01 : 00 PM) ..............................................................REET I & II LEVEL (12 : 30 PM to 05 : 30 PM).............................................................. Our site is currently under processing and updating . We will update all notes soon . Thank you

 

Current Affairs 21 - 22 Sep 2017

1) गूगल (Google) द्वारा 18 सितम्बर 2017 को भारत में शुरू किए गए यूपीआई-आधारित पेमेण्ट्स एप (UPI-based payments app) का क्या नाम जिसके द्वारा कम्पनी ने भारत के डिज़िटल पेमेन्ट्स क्षेत्र में प्रवेश कर लिया है? – तेज़ (Tez)

विस्तार: तेज (Tez) दिग्गज इंटरनेट कम्पनी गूगल (google) द्वारा लाँच किए गए नए एमेण्ट्स एप्लीकेशन का नाम है जो भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (National Payments Corporation of India – NPCI) के यूनाइटेड पेमेण्ट्स इंटरफेस (Unified Payments Interface – UPI) के प्लेटफॉर्म पर आधारित है। इसको कम्पनी ने 18 सितम्बर 2017 को लाँच किया।

गूगल ने अपने तेज़ एप्प को एण्ड्रॉयड (Android) के गूगल प्लेस्टोर (Play Store) के अलावा एप्पल (Apple) की एप्प स्टोर (App Store) पर भी उपलब्ध कराया है। प्रयोगकर्ता इस एप्लीकेशन को 7 भारतीय भाषाओं में प्रयोग कर सकेंगे – हिंदी, बांग्ला, गुजराती, कन्नड़, मराठी, तमिल और तेलुगु।

तेज़ एप्लीकेशन से भुगतान करने के लिए प्रयोगकर्ता अपने यूपीआई-समर्थित बैंक खातों को तेज़ से जोड़कर भुगतान कर सकेंगे अथवा यूपीआई आईडी (UPI ID), स्कैन या क्यूआर कोड (QR code) या फोन नम्बर की मदद से भी भुगतान किया जा सकेगा। लेकिन इसके लिए जरूरी होगा कि दोनों पक्षों के पास तेज़ एप्लीकेशन होना चाहिए। उल्लेखनीय है कि भारत सरकार देश में डिज़िटल भुगतान को बढ़ावा देने के लिए यूपीआई प्लेटफॉर्म को लोकप्रिय बनाने की भरसक कोशिश कर रही है।

……………………………………………………………………..

2) कौन सा उपक्रम सितम्बर 2017 के दौरान अपने आईपीओ (IPO) को सफलतापूर्वक पूरा कर देश के स्टॉक एक्सचेंजों में सूचीबद्ध होने वाला पहला गैर-जीवन बीमा क्षेत्र का उपक्रम (non-life insurance sector entity) बनने जा रहा है? – आईसीआईसीआई लोम्बार्ड

विस्तार: आईसीआईसीआई लोम्बार्ड जनरल इन्श्योरेन्स कम्पनी (ICICI Lombard General Insurance Company) द्वारा जारी किया गया पहला आईपीओ (IPO – initial public offering) 19 सितम्बर 2017 को समाप्त हो गया। इस तीन-दिवसीय IPO के द्वारा कम्पनी ने 5,700 करोड़ रुपए की अपनी हिस्सेदारी बेचकर धन हासिल किया। यह आइपीओ 3 गुना ओवरसब्सक्राब्ड रहा।

आईसीआईसीआई लोम्बार्ड जनरल इन्श्योरेन्स आईसीआईसीआई बैंक (ICICI Bank) और कनाडा में रह रहे व्यवसायी प्रेम वस्त (Prem Watsa) द्वारा संचालित फेयरफैक्स फाईनेण्शियल होल्डिंग्स (Fairfax Financial Holdings) के बीच संयुक्त उपक्रम (joint-venture) है। इस आइपीओ के द्वारा दोनों हिस्सेदारों ने अपनी 19% हिस्सेदारी को 8.62 करोड़ शेयर जारी कर बेच दिया।

इस आईपीओ के सफल होने के साथ आईसीआईसीआई लोम्बार्ड जनरल इन्श्योरेन्स ऐसा पहला गैर-जीवन बीमा क्षेत्र का उपक्रम बन गया है जो भारत के स्टॉक एक्सचेंजों में सूचीबद्ध होने जा रहा है।

……………………………………………………………………..

3) केन्द्र सरकार ने 18 सितम्बर 2017 को किसे राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (National Investigation Agency – NIA) के नए प्रमुख के पद पर नियुक्त करने की घोषणा की? – वाई.सी. मोदी (Y.C Modi)

विस्तार: वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी वाई.सी. मोदी (Y.C Modi), जोकि 2002 के गुजरात दंगों की जाँच के लिए सर्वोच्च न्यायालय द्वारा नियुक्त विशेष जाँच दल (SIT) के सदस्य थे, को केन्द्र सरकार ने 19 सितम्बर 2017 को राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (National Investigation Agency – NIA) का नया प्रमुख (Chief) नियुक्त कर दिया। राष्ट्रीय जाँच एजेंसी आतंकवाद और आतंकवाद के वित्त-पोषण से सम्बन्धित मामलों की जाँच करने वाली देश की सर्वप्रमुख एजेंसी है।

मोदी असम-मेघालय काडर के 1984 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं तथा वर्तमान में केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो (CBI) में विशेष निदेशक के तौर पर तैनात हैं। वे इस पद पर 31 मई 2021 तक अपनी सेवानिवृत्ति तक रहेंगे।

……………………………………………………………………..

4) किस राज्य सरकार ने अपने राज्य के जनजातीय स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के गांवों के विकास के लिए 19 सितम्बर 2017 को “शहीद ग्राम विकास योजना” शुरू की? – झारखण्ड (Jharkhand)

विस्तार: “शहीद ग्राम विकास योजना” (‘Shaheed Gram Vikas Yojana’) नामक एक नई योजना को झारखण्ड (Jharkhand) सरकार ने 19 सितम्बर 2017 को शुरू किया। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने झारखण्ड के मुख्यमंत्री रघुबर दास के साथ इस योजना का उलिहातु (Ulihatu) नामक गाँव में उद्घाटन किया। यह गाँव झारखण्ड के सुप्रसिद्ध जनजातीय नेता व स्वतंत्रता सेनानी बिरसा मुण्डा (Birsa Munda) का जन्मस्थान तथा उनका निवास स्थान था।

इस नई योजना के माध्यम से झारखण्ड सरकार जनजातियों से आने वाले स्वतंत्रता सेनानियों के गाँवों का विकास कर उन्हें मुख्यधारा में लाना चाहते हैं। सदियों से मुख्यधारा से कटे ऐसे गाँवों के निवासियों को सरकार मूलभूत सुविधाएं प्रदान कर उनका जीवन बेहतर बनाना चाहती है।

……………………………………………………………………..

5) भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (TRAI) ने 19 सितम्बर 2017 को इंटरकनेक्ट यूज़ेज चार्जेज़ (interconnect usage charges – IUC) में 57% की भारी कमी करने की घोषणा कर निवर्तमान मोबाइल फोन कम्पनियों को एक बड़ा झटका दिया। 1 अक्टूबर 2017 से लागू होने वाली IUC की नई दर क्या होगी? – 6 पैसे प्रति मिनट

विस्तार: भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (TRAI) ने 19 सितम्बर 2017 को इंटरकनेक्ट यूज़ेज चार्जेज़ (IUC) की दर में 57% की कमी कर इसे वर्तमान 14 पैसे प्रति मिनट से घटा कर मात्र 6 पैसे प्रति मिनट कर दिया। IUC में यह कमी 1 अक्टूबर 2017 से लागू होगी।

उल्लेखनीय है कि IUC वह दर होती है जो एक मोबाइल नेटवर्क ऑपरेटर दूसरे नेटवर्क ऑपरेटर को उसका नेटवर्क इस्तेमाल करने के एवज में देता है। यह एयरटेल, आइडिया और वोडाफोन जैसी प्रमुख मोबाइल कम्पनियों के राजस्व का प्रमुख स्रोत रहा है तथा इसकी दर में कमी करने से ऐसी कम्पनियों को एक बड़ा झटका लगा है। वहीं मुकेश अम्बानी की पिछले साल ही शुरू हुई मोबाइल कम्पनी जियो (Jio) को इस कटौती से खासा लाभ होगा।

……………………………………………………………………..

6) किस मध्य अमेरिकी देश में 19 सितम्बर 2017 को 7.1 तीव्रता के भूकंप के चलते भारी तबाही हुई और 250 से अधिक लोगों की मौत हो गई? – मैक्सिको (Mexico)

विस्तार: 19 सितम्बर 2017 को दोपहर में मैक्सिको (Mexico) के मध्य क्षेत्र में रिक्टर पैमाने पर 7.1 तीव्रता वाला एक भूकंप आया। इसके चलते राजधानी मैक्सिको सिटी समेत इस क्षेत्र के कई शहर और कस्बों में भारी तबाही हुई। सैकड़ों इमारतें मलबे के ढेर में तब्दील हो गईं। सर्वाधिक तबाही प्यूबला (Puebla) और मोरेलोस (Morelos) प्रांत में हुई। इस विनाशाकारी भूकंप के कारण कम से कम 269 लोगों की मौत हो गई तथा 1800 से अधिक घायल हो गए।

यह भूकंप 1985 में इसी तारीख (19 सितम्बर) को आए भूकंप के बाद मैक्सिको में आया अब तक का सबसे भयंकर भूकंप था। 1985 के भूकंप में 10 हजार से अधिक लोग मारे गए थे। उल्लेखनीय है कि मैक्सिको जिस विवर्तनिक प्लेट (tectonic plate) में बसा हुआ है वह भूकंप के लिहाज से बेहद संवेदनशील है तथा यहाँ तीव्र भूकंप लगातार आते रहते हैं।

…………………………………………………………..

7) केन्द्रीय कैबिनेट ने 20 सितम्बर 2017 को बिल्कुल नए सिरे से तैयार की गई “खेलो इण्डिया” (“Khelo India”) योजना को अपनी स्वीकृति प्रदान कर दी जिसके तहत देश भर में प्रतिभावान खिलाड़ियों को प्रोत्साहन देने तथा देश के ग्रामीण अंचलों को वैश्विक खेलों से जोड़ने का प्रयास किया जायेगा। इस संवर्द्धित योजना में प्रस्तावित मुख्य उपाय क्या है? – देश भर में 1000 हजार खिलाड़ियों को खोजकर उन्हें 8 वर्षों तक 5 लाख वार्षिक की खेल छात्रवृत्ति प्रदान की जायेगी

विस्तार: देश में खेलों के स्तर में गुणात्मक सुधार लाने के उद्देश्य से केन्द्रीय कैबिनेट (Union Cabinet) ने एक नई संवर्द्धित “खेलो इण्डिया” योजना (revamped “Khelo India” scheme) को 20 सितम्बर 2017 को अपनी स्वीकृति प्रदान की। इस योजना के तहत देश भर से चुने गए 1000 युवाओं को 8 वर्षों तक प्रतिवर्ष 5 लाख रुपए की खेल-छात्रवृत्ति प्रदान करने का मुख्य प्रावधान किया गया है ताकि देश में युवा खेल प्रतिभाओं को निखारा जा सके। इस योजना पर केन्द्र सरकार द्वारा करोड़ रुपए व्यय होगा जो वर्ष 2017-18 से 2019-20 के बीच किया जायेगा। इस योजना के तहत देश के 20 चुनिंदा विश्वविद्यालयों को स्पोर्ट्स एक्सीलेंस के हब के रूप में तैयार करने का प्रावधान किया गया है।

उल्लेखनीय है कि देश में अभी तक चलाई जा रही खेल प्रोत्साहन योजनाओं के तहत खेल से सम्बन्धी मूलभूत संरचना जैसे स्टेडियम, आदि स्थापित करने पर ही पूरा जोर रहता था। लेकिन नई संवर्द्धित “खेलो इण्डिया” योजना के तहत युवा खिलाड़ियों की खेल क्षमताओं को विकसित करने पर पूरा जोर दिया गया है। इसके अलावा कॉरपोरेट कम्पनियों को अपने कॉरपोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व (corporate social responsibility) के तहत “खेलो इण्डिया” को वित्तीय सहायता देने का प्रावधान भी किया गया है।

…………………………………………………………..

8) केन्द्र सरकार द्वारा 20 सितम्बर 2017 को जारी गैजेट विज्ञप्ति के अनुसार वित्त पोषण में संलिप्त समस्त पियर-टू-पियर प्लेटफॉर्म्स (peer-to-peer lending (P2P) platforms) का नियमन (regulation) किस उपक्रम द्वारा किया जायेगा? – भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI)

विस्तार: भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) को ऋण प्रदान करने में कार्यरत देश के समस्त पियर-टू-पियर (P2P) प्लेटफॉर्म्स की नियामक संस्था बनाया गया है। 20 सितम्बर 2017 को जारी गैजेट में उक्त उल्लेख करते हुए यह बताया गया है कि अब ऐसे सभी उपक्रमों को गैर-बैंकिंग वित्तीय कम्पनियों (non-banking financial companies – NBFCs) की श्रेणी में रखा जायेगा। माना जा रहा है कि अब आरबीआई जल्द ही ऐसे ऋण प्रदत्ता के बारे में नियम व दिशानिर्देश जारी करेगा।

ऋण प्रदत्ता एक तरह से क्राउड-फण्डिंग (crowd-funding) उपक्रम होते हैं जो ऋण जारी कर ब्याज के साथ इसकी वसूली करते हैं। लेकिन ऐसे उपक्रमों की सबसे खास बात यह है कि वे ऑनलाइन प्लेटफॉर्म्स का उपयोग कर कर्जदारों को खोजते हैं तथा उसके मुताबिक धन हासिल करते हैं।

आरबीआई का मानना है कि ऋण-प्रदत्ता वित्त उपलब्ध कराने वाले वैकल्पिक स्रोत हैं तथा ऐसे क्षेत्रों में उनकी अहमियत है जहाँ ऋण प्रदान करने के औपचारिक साधन उपलब्ध नहीं हैं। इनकी परिचालन लागत को कम कर इनकी ब्याज दरों को कम किया जा सकता है। यदि इन्हें विधिपूर्वक किसी नियामक के तले लाकर काम करने दिया जाय तो इनकी भूमिका प्रभावशाली हो सकती है।

…………………………………………………………..

9) टाटा स्टील (Tata Steel Limited) ने 19 सितम्बर 2017 को किस जर्मन स्टील समूह के साथ एक आशय-पत्र पर हस्ताक्षर कर एक नया साझा-उपक्रम (new joint-venture) स्थापित किया है जो यूरोप का दूसरा सबसे बड़ा इस्पात निर्माता बन कर उभरेगा? – थाइसेनक्रुप एजी (Thyssenkrupp AG)

विस्तार: टाटा स्टील लिमिटेड (Tata Steel Limited) और जर्मनी के प्रमुख स्टील निर्माता समूह थाइसेनक्रुप एजी (Thyssenkrupp AG) के साथ 19 सितम्बर 2017 को एक करार किया है जिसके तहत यह दोनों उपक्रम एक नया साझा उपक्रम (joint-venture) स्थापित करेंगे। बराबरी के हिस्सेदारी वाले इस उपक्रम में टाटा और थाइसेनक्रुप अपने फ्लैट स्टील व्यवसायों को जोड़कर जिस उपक्रम को शुरू करेंगे वह यूरोप का दूसरा सबसे बड़ा स्टील निर्माता होगा।

इस नए उपक्रम में टाटा स्टील के ब्रिटेन और नीदरलैण्ड्स स्थित इस्पात व्यवसाय तथा थाइसेनक्रुप के नीदरलैण्ड्स स्थित स्टील व्यवसाय को जोड़ा जायेगा। इस नए उपक्रम का मुख्यालय नीदरलैण्ड्स के एम्स्टर्डम (Amsterdam) में होगा तथा यह लक्ष्मी निवास मित्तल के नेतृत्व वाले आर्सेलरमित्तल (ArcelorMittal) के बाद यूरोप का दूसरा सबसे बड़ा स्टील उपक्रम होगा। इसका कुल वार्षिक व्यवसाय 15 अरब यूरो (लगभग 1,50,000 करोड़ रुपए) होगा।

…………………………………………………………..

10) 20 सितम्बर 2017 को दिवंगत हुईं लिलियन बेटनकोर्ट (Liliane Bettencourt), जो फोर्ब्स (Forbes) पत्रिका के अनुसार लगभग 50 अरब डॉलर की सम्पत्ति के साथ दुनिया की सबसे धनी महिला थीं, किस प्रमुख ब्राण्ड की मालकिन थीं? – लो’ रियाल (L’Oreal)

विस्तार: लिलियन बेटनकोर्ट फ्रांस के सुप्रसिद्ध कॉस्मेटिक्स ब्राण्ड लो’ रियाल (L’Oreal) की मालकिन थीं। उनका 20 सितम्बर 2017 को 94 वर्ष की आयु में निधन हो गया। वे लो’रियाल के संस्थापक इयुजीन श्वुएलर (Eugene Schueller) की पुत्री थी तथा 1957 में अपने पिता की मृत्यु के बाद वे लो’ रियाल की मालकिन बन गई थीं।

उल्लेखनीय है कि लो’ रियाल आज पूरी दुनिया में प्रसिद्ध ब्राण्ड है तथा इसका कुल मूल्य 126 अरब डॉलर आंका गया है। ये फ्रांस की चौथी सबसे बड़ी सूचीबद्ध कम्पनी भी है।

…………………………………………………………..

http://www.churugurukul.com/current-affairs-17-20-sep-2017